Meri Har Dua Har Azaan Mein Tu Hai – Hindi-Shayari

0
7
Join our telegram channel
Join our telegram channel

Meri Har Dua Har Azaan Mein Tu Hai

Advertisement

Meri Har Dua Har Azaan Mein Tu Hai,
Kahte Hai Ghar Khuda Ka Jise Us Makan Mein Tu Hai,
Kaise Pahunchegi Meri Paravaaz Tujh Tak ,
Main Hoon Jameen Par Aur Aasmaan Par Tu Hai…

Meri Ibaadat Meri Mohabbat Par Inayat Kar,
Mere Dil Aur Dhadkan Ke Darmyaan Mein Sirf Tu Hai,
Meri #Khatayen Nakabile Maafi Hain Shayad,
Tabhi To Beparvaah Hai Is Kadar Ki Mere Dard Se Anjaan Tu Hai.

Advertisement

मेरी हर दुआ हर अजान में तू है,
कहते है घर खुदा का जिसे उस मकान में तू है,
कैसे पहुंचेगी मेरी परवाज़ तुझ तक,
मैं हूँ जमीन पर और आसमान पर तू है…

मेरी इबादत मेरी मोहब्बत पर इनायत कर,
मेरे दिल और धड़कन के दरम्यान में सिर्फ तू है,
मेरी #ख़ताएँ नाकाबिले माफ़ी हैं शायद,
तभी तो बेपरवाह है इस कदर कि मेरे दर्द से अनजान तू है।

You Might Like This:   Sufi Music: The Call of Qawwali for Prayer and Ecstasy

Advertisement



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here